Mon. May 20th, 2019

ग्वालियर लोकसभा ….ग्वालियर से 3 बार हार चुके कांग्रेस के अशोक सिंह को आस, ‘अपना टाइम आएगा’

ग्वालियर । मध्य प्रदेश की हाई फ्रोफाइल सीट में शुमार ग्वालियर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस ने अशोक सिंह को लगातार चौथी बार उम्मीद्वार बनाया है। 2007 के लोकसभा उपचुनाव मे पहली बार कांग्रेस के टिकट पर मैदान में उतरे अशोक सिंह को बीजेपी की यशोधरा राजे सिंधिया ने 35 हजार वोट से हराया था। 2009 में दोबारा अशोक सिंह कांग्रेस से उम्मीद्वार बने और यशोधरा राजे से महज 26 हजार वोट से हारे, वहीं 2014 की मोदी लहर में भी अशोक सिंह बीजेपी के नरेंद्र सिंह तोमर से महज 29 हजार वोट से हारे थे।
दिग्विजय सिंह गुट के माने जाने वाले अशोक सिंह इस बार भी कांग्रेस के इकलौते दावेदार थे। लेकिन जिला कांग्रेस ने पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया फिर प्रियदर्शनी को ग्वालियर से टिकट देने की मांग का प्रस्ताव पास कर केंद्रीय नेतृत्व के पास भेजा था। इसलिए ही शायद अशोक सिंह का टिकट तय होने में वक्त लगा। प्रदेश उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी निभा रहे कांग्रेस के अशोक सिंह का मुकाबला इस बार बीजेपी के विवेक शेजवलकर से होगा। अशोक सिंह ने इस बार कांग्रेस को कामयाबी मिलने की उम्मीद जताई है। हालांकि सिंधिया गुट से भीतरघात के सवाल पर अशोक सिंह ने कहा कि पूरी कांग्रेस एक है।
————————————————————
ग्वालियर लोकसभा क्षेत्र में कुल मतदाता
ग्वालियर संसदीय क्षेत्र में कुल आठ विधानसभा क्षेत्र आते हैं। इनमें ग्वालियर जिले की 06 विधानसभा- ग्वालियर वि.स., ग्वालियर पूर्व, ग्वालियर दक्षिण, ग्वालियर ग्रामीण, भितरवार, डबरा वि.स. और शिवपुरी जिले की दो विधानसभा- पोहरी व करैरा विधानसभा शामिल हैं।2013 विधानसभा चुनाव में इन आठ सीटों में से 6 पर बीजेपी व 2 पर कांग्रेस का कब्जा था।जबकि 2018 विधानसभा चुनाव के बाद हालात बदल गए हैं। अब इनमें 7 सीटों पर कांग्रेस व 1 पर बीजेपी का कब्जा है।
———————————————————
28 दिन में दिखानी होगी ताकत
ग्वालियर में मतदान 12 मई को होना है, चुनाव प्रचार मतदान से 48 घंटे पहले थम जाता है, इस हिसाब से अशोक सिंह और कांग्रेस के पास केवल 28 दिन ही शेष है जनता को विश्वास दिलाने के लिए कि वो ही ग्वलियर के लिए बेहतर विकल्प हैं। अब देखना ये है कि लगातार तीन लोकसभा चुनाव हारने का अशोक सिंह का सिलसिला इस बार थमता है कि नहीं और अशोक सिंह का संसद में पहुंचने का सपना पूरा होता है कि नहीं।
———————————————————
अशोक सिंह का लोकसभा चुनाव का रिकॉर्ड
-2007 उपचुनाव में कांग्रेस के अशोक सिंह बीजेपी की यशोधरा राजे से 35 हजार वोट से हार गए।
-2009 लोकसभा में कांग्रेस के अशोक सिंह बीजेपी की यशोधरा राजे से 26 हजार वोट से हार गए।
-2014 लोकसभा में कांग्रेस के अशोक सिंह बीजेपी के नरेंद्र सिंह से 29 हजार वोट से हार गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *