Wed. Jun 26th, 2019

लोकसभा चुनाव में मोदीवाद की जीत हुई : चौहान

– पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा-जातिवाद, वंशवाद, गुंडावाद और राजतंत्रवाद पराजित हुआ
भोपाल। लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में जहां जातिवाद आधारित राजनीति होती है वहां की जनता ने भी जातिवाद से ऊपर उठ उठकर मतदान किया है। इस चुनाव में जातिवाद, वंशवाद, गुंडावाद, राजतंत्रवाद, आतंकवाद पराजित हुआ और मोदीवाद की जीत हुई है। मोदीवाद का अर्थ- ‘सबका साथ-सबका विकास’ के मंत्र से है। जनता ने विकास को राष्ट्रीय सुरक्षा और जनकल्याण को चुना है। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने सेंटर प्रेस क्लब के कार्यक्रम ‘प्रेस से मिलिए’ में चर्चा करते हुए कही।
इस बार चली मोदी वेव
श्री चौहान ने कहा कि इस बार चुनाव प्रचार में मेरे जैसे सभी कार्यकर्ताओं ने महसूस किया कि इस बार मोदी जी के नाम की सामान्य हवा नहीं बल्कि मोदी वेव चली है। भाजपा के पक्ष में लहर है। उन्होंने बताया कि मैंने देश के 14 राज्यों और प्रदेश की हर विधानसभा में चुनाव प्रचार किया। सभी जगह मिले जनसमर्थन में एक ही बात साफ तौर पर दिखाई देती थी कि देश और प्रदेश की जनता के मन में नरेंद्र मोदी बसे हैं।
कांग्रेस ने मुद्दों की बजाय मोदी जी को टारगेट किया
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रतिपक्षी दलों और कांग्रेस की सबसे बड़ी असफलता यह रही कि वे मुद्दों के बजाय मोदी जी को टारगेट करते रहे। कांग्रेस को चौकीदार चोर है के नारे ने नरेन्द्र मोदीजी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने का देश मे जुनून पैदा किया। चुनाव में राष्ट्रवाद और सुरक्षा प्रमुख मुद्दे रहे। आम जनता की आवाज थी कि आतंकवाद के खिलाफ कड़े कदम उठाना चाहिए और आतंकवादियों को सबक सिखाना चाहिए, लेकिन विपक्षी दल सैन्य कार्यवाही पर सबूत मांगते रहें। इस लिहाज से भी जनता ने सारे विपक्षी दलों को सिरे से नकार दिया।
विपक्षी दलों के लिए आत्मचिंतन का वक्त है
चौहान ने कहा कि देश में आए परिणामों पर राजनीतिक दलों को सोचने की आवश्यकता है। जनता ने वंशवाद और आतंकवाद को नकार दिया है। कांग्रेस में एक ही परिवार का वंशवाद कब तक चलेगा यह सोचने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों के लिए यह आत्मचिंतन का वक्त है।
भारतीय राजनीति के आधुनिक चाणक्य हैं अमित शाह 
पूर्व मुख्यमंत्री ने लोकसभा नतीजों की जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का अभिनंदन करते हुए कहा कि अमित शाह ने जो कहा उसे साबित करके दिखाया। त्रिपुरा जैसे राज्य में उनकी कुशल रणनीति से भारतीय जनता पार्टी ने जीत हासिल की। उत्तप्रदेश को लेकर उन्होंने दावा किया था कि 61 से 68 सीटों पर लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी की विजय होगी। नतीजों में हमें उत्तरप्रदेश में 64 सीटें प्राप्त हुई हैं, जो उनके कुशल संगठन क्षमता को दर्शाता है। चौहान ने कहा कि अमित शाह भारतीय राजनीति के आधुनिक चाणक्य बनकर उभरे हैं।
भाजपा किसी प्रकार की तोड़फोड़ और खरीद फरोस्त में विश्वास नहीं रखती
भाजपा में अपनी भूमिका को लेकर पूछे गए एक प्रश्न के जवाब में चौहान ने कहा कि कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता हूं और पार्टी के माध्यम से जनता की सेवा करता हूं। पार्टी जो कार्य सौपेगी उसे पूरी निष्ठा के साथ पूरा करूंगा। उन्होंने मध्यप्रदेश में अगली सरकार बनाए जाने के एक प्रश्न के जवाब में कहा कि भाजपा किसी प्रकार की तोड़फोड़ और खरीद फरोस्त में विश्वास नहीं रखती है। लेकिन कांग्रेस के अंतर्विरोध एवं जिन्होंने उन्हें समर्थन दिया है, उनके कुछ कारणों से कुछ भी हो सकता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार चलाए और प्रदेश का भला करे, क्योंकि भारतीय जनता पार्टी की रूचि इस सरकार को गिराने में नहीं है। अपने आप अगर कुछ होता है तो उसमें भारतीय जनता पार्टी कुछ नहीं कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *